coronavirus Vaccine
coronavirus Vaccine (क्रेडिट- इंस्टाग्राम)

Coronavirus Vaccine: 2020 में कोरोना वायरस का कहर जबरदस्त तरीके से देखने को मिला. लोगों को 2021 से ये उम्मीद लगातार ये बनी हुई थी कि वैक्सीन के साथ हम कोरोना को मात दे सकते हैं. ये बात कहीं न कहीं सही भी हुई। दरअसल ऐसा हम इसीलिए कह रहे हैं कि आने वाले छ: से सात महीने के दौरान सरकार ने 30 करोड़ लोगों के लिए वैक्सीन उपलब्ध करवाने का फैसला किया है. इस बड़े कदम की शुरुआत फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ की जाएगी. शनिवार से कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में ड्राई रन चलाया गया है। ये सब वास्तविक वैक्सीन के प्रोगाम की शुरुआत करने से पहले किया गया.

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) द्वारा वैक्सीन को मंजूरी दिए जाने के तुरंत बाद टीकाकरण अभियान शुरू हो जाएगा। डीसीजीआई के प्रमुख, वी जी सोमानी ने हाल ही में इस बात का संकेत दिया था कि भारत में नए साल में एक सीओवीआईडी -19 वैक्सीन होने की संभावना है। उन्होंने जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा किए गए प्रयासों के बारे में बात की और कहा, “… शायद हमारे पास हाथ में कुछ नया साल में कुछ अच्छा होगा। यही मैं संकेत दे सकता हूं।”

आइए चलिए हम आपको बताते हैं कि कैसे कोरोना वैक्सीन का प्रोसेस भारत में होना वाला है-

Coronavirus Vaccine: जानिए पहला वैक्सीन किसे मिलेगा?

  1. हेल्थकेयर वर्कस: पब्लिक और प्राइवेट

COVID-19 (NEGVAC) के लिए वैक्सीन प्रशासन पर राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह की सिफारिश के मुताबिक, टीका पहले सरकारी और निजी दोनों अस्पतालों में काम करने वाले लगभग एक करोड़ स्वास्थ्य कर्मचारियों को दिया जाएगा।

इन स्वास्थ्य सेवा श्रमिकों को आगे सब कैटगिरी में बांटा जाएगा जैसे कि फ्रंटलाइन हेल्थ और एकीकृत बाल विकास सेवा (ICDS) के कार्यकर्ता, नर्स और सुपरवाइजर, मेडिकल ऑफिसर, पैरामेडिकल स्टाफ, सहायक कर्मचारी और स्टूडेंट।

उसी के लिए सारा डाटा सरकारी और निजी स्वास्थ्य सुविधाओं की ओर से इकट्ठा किया गया है और CoWIN में खिलाया जा रहा है, जो टीकाकरण अभियान को पूरा करने के लिए एक डिजिटल प्लेटफॉर्म है।

  1. फ्रंटलाइन और मुंसिपल वर्क

राज्य और केंद्रीय पुलिस विभाग, आर्म्ड फोर्स, होमगार्ड, आपदा प्रबंधन और नागरिक सुरक्षा संगठन, जेल कर्मचारियों, नगरपालिका के श्रमिकों और राजस्व अधिकारियों से जुड़े लगभग दो करोड़ फ्रंटलाइन कार्यकर्ता कोविड-19 के नियंत्रण, निगरानी और बाकी गतिविधियों में शामिल होंगे और उन्हें टीका लगवाना होगा। राज्य सरकार और रक्षा मंत्रालय, होम, हाउसिंग और अर्बन अफेयर्स से जुड़े श्रमिकों को भी इस चरण में सम्मिलित किया जाएगा।

  1. 50 से अधिक उम्र के लोग

इसके बाद ये ग्रुप दो कैटगिरी में विभाजित होंगे – 60 से अधिक और 50 से 60 साल के उम्र के लोग। इसके अंदर लोकसभा और विधानसभा चुनावों के लिए जो नई मतदाता सूची का आई है उसका उपयोग टीकाकरण अभियान के लिए इस श्रेणी के तहत आबादी की पहचान करने के लिए किया जाएगा।

  1. उच्च कोविड-19 संक्रमण वाले क्षेत्र

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास पहचाने जाने वाले भौगोलिक क्षेत्रों में प्राथमिकता वाले क्षेत्रों (जैसे NEGVAC द्वारा तय किए गए) के लिए रोलआउट की प्राथमिकता चरणबद्ध करने के लिए सामान्य लचीलापन होगा, जहां कोविड-19 संक्रमण का प्रसार अधिक है। यानी जहां ज्यादा संक्रमित वाले क्षेत्र है वहां के लोगों में फिर कोरोना वायरस का वैक्सीन लगाया जाएगा।

  1. बाकी बची हुई जनसंख्या

इन सबके बाद जो बाकी बची हुई जनसंख्या है उन्हें वैक्सीन लगाया जाने की फिर तैयार होने वाली है। यहां टीकाकरण रोग महामारी विज्ञान और वैक्सीन की उपलब्धता पर निर्भर करेगा।

Coronavirus Vaccine: आप वैक्सीन के लिए कैसे रजिस्टर कर सकते हैं?

सभी चीजों से संबंधित काम हो जाने के बाद चरणों में रजिस्टर मॉड्यूल को उपलब्ध कराया जाएगा। जोकि कुछ इस तरह से है-

  • CoWIN वेबसाइट पर सेल्फ रजिस्टर कराएं।
  • सरकारी फोटो पहचान अपलोड या आधार प्रमाण को अप्लोड करें। प्रमाणीकरण बायोमेट्रिक्स, ओटीपी या जनसांख्यिकीय के माध्यम से ये हो सकता है।
  • एक बार रजिस्टर होने के बाद, टीकाकरण के लिए एक तारीख और समय बांटा जाएगा
  • मौके पर कोई रजिस्ट्रेशन नहीं होगा और केवल पहले से ही रजिस्टर लाभार्थियों को टीकाकरण के लिए आगे बढ़ने की अनुमति दी जाएगी।
  • इस सेशन मैनेजमेंट के लिए जिला प्रशासन जिम्मेदार होगा। वे लाभार्थियों को सत्र और साइट आवंटन के लिए मंजूरी देंगे। CoWIN में एक इनबिल्ट मॉनिटरिंग और रिपोर्टिंग मौजूद होगी।

Coronavirus Vaccine: कहां लगवाएंगे वैक्सीन?

वैक्सीन साइटों को विभिन्न प्राथमिकता समूहों के लिए विभाजित किया गया है:

  • फिक्स्ड सेशन साइट
  • आउटरीच सेशन साइट
  • स्पेशल मोबाइल टीम

Coronavirus Vaccine: मुझे कौन देगा टीका?

पांच सदस्यीय टीकाकरण टीम को ये प्रक्रिया सौंपी जाएगी:

टीकाकरण अधिकारी 1: रजिस्ट्रेशन की पूर्व जांच के लिए
टीकाकरण अधिकारी 2: प्रमाणीकरण के लिए
टीकाकरण अधिकारी 3: टीका देने के इनचार्ज। चूंकि यह एक इंट्रामस्क्युलर वैक्सीन है, इसलिए एक प्रशिक्षित पेशेवर वैक्सीन का प्रशासन करेगा।
टीकाकरण अधिकारी 4 और 5: भीड़ प्रबंधन के प्रभारी और 30 मिनट का ऑब्जर्वेशन।

Leave a Reply