Ravana (Photo Credit: yogamysticism)

लंकापति Ravana रामायण के एक प्रमुख पात्र हैं और वह शिव के सबसे बड़ों भक्तों में से एक माने जाते थे. धर्मशास्त्रों ने माना है कि रावण में तमाम बुराइयों के साथ कुछ अच्छाइयां भी थी. वह महाज्ञानी माने जाते थे. उन्होंने हर एक शास्त्र और ग्रंथ का अध्ययन कर ज्ञान प्राप्त किया था. अगर रावण की बुराइयों की बात करें तो उनका सबसे अवगुण यह माना जाता था कि वह स्त्रियों के प्रति शीघ्र आकर्षित हो जाते थे. उन्हें महिलाओं की सुंदरता मुग्ध किया करती थी. Ravana ने माता सीता को भी उनकी सुंदरता पर मोहित होने के बाद अपहरण किया था. और जब यह समाचार सुनकर श्री राम लंका पहुंचे तो मंदोदरी अति भयभीत हो गईं थी. मंदोदरी ने रावण को समझाया कि माता सीता को वापस सौंप दें और प्रभु राम से क्षमा याचना मांगे. इस बात को सुनकर ही रावण ने मंदोदरी को कहा था कलयुग में स्त्रियों में 8 अवगुण दिखेंगे. जिसकी मैं भविष्यवाणी करने जा रहा हूं.

लंकापति रावण ने अपनी पत्नी मंदोदरी से बातचीत में जो दोहा कहा था वो था ‘नारि सुभाऊ सत्य सब कहहीं। अवगुन आठ सदा उर रहहीं। साहस अनृत चपलता माया। भय अबिबेक असौच अदाया।’

साहस /Ravana

रावण ने कहा था कि कलयुग में स्त्रियों में पुरुषों की तुलना में अत्यधिक साहस पाया जाएगा. जिसकी वजह से वह कई बार ऐसा कार्य जाएंगी जिसके परिणाम स्वरुप उनके परिवार और सगे संबंधियों को पछताना पड़ेगा. राणव ने कहा था कि स्त्रियों को इस बात का ज्ञान नहीं होगा कि साहस का कितना और किस जगह पर इस्तेमाल करना है. जब साहस का अत्याधिक प्रयोग किया जाता है तो वह दुस्साहस बन जाता है और यही नाश का कारण बनता है.

झूठ/Ravana


Ravana ने मंदोदरी को कहा था कि स्त्रियों का झूठ बोलना उनके लिए विनाशकारी साबित होगा. स्त्रियां बात-बात पर झूठ बोलेंगी और जब झूठ पर से पर्दा उठेगा तो उनके लिए परेशानियां खड़ी हो जाएगी.

चंचलता /Ravana

लंकापति ने अपनी धर्मपत्नी से कहा था कि कलयुग में स्त्रियों में चंचलता का भाव पुरुषों के मुकाबले ज्यादा होगा. इसी चंचलता की वजह से वह किसी एक बात पर ज्यादा देर नहीं टिक पाएंगी. स्त्रियों के विचार में घड़ी-घड़ी बदलाव उनके लिए कई सारी परेशानियों को जन्म देगा.

माया/Ravana

रावण ने स्त्रियों के बारे में बताते मंदोदरी से कहा था कि कलयुग में स्त्रियां अपने स्वार्थ को सिद्ध करने के लिए माया की रचना करेंगी. जो पुरुष इस मायाजाल में फंस जाएगा वह स्त्रियों के वश में हो जाएगा. रावण ने मंदोदरी से कहा था कि तू भी अपनी बात मनवाने के लिए राम के नाम की माया रच रही है और राम की शरण में जाने के लिए मजबूर कर रही हैं.

डरपोक/Ravana

रावण ने मंदोदरी को महिलाओं का डरपोक होना भी कलियुग में उनका एक अवगुण बताया था. रावण के अनुसार कई बार महिलाएं अनावश्यक बात पर डर जाएंगी. इसी डर के कारण उनके बने बनाए काम भी बिगड़ जाएंगे. रावण ने कहा था कि महिलाओं सिर्फ बाहर से साहसी होती हैं अंदर से वह डरपोक होती हैं.

अविवेकी/Ravana

Ravana ने कहा था कलियगु में कई बार महिलाएं कुछ परिस्थितियों में अपने अविवेकी स्वभाव के कारण मूर्खतापूर्ण कार्य कर जाएंगी. अपने आप को श्रेष्ठ साबित करने के लिए महिलाएं कुछ ऐसा काम कर जाएंगी जिसका नुकसान भविष्य में भुगतना पड़ेगा.

अपवित्र/Ravana

Ravana के अनुसार कलियुग में महिलाएं साफ सफाई का ध्यान नहीं रखेंगी.

निर्दयी/Ravana

रावण के अनुसार कलियगु में महिला अगर निर्दयी हो गई तो उसके अंदर किसी व्यक्ति विशेष के प्रति दया का भाव जन्म नहीं ले सकेगा.

NOTE: Street Khabar यहां बताई गई बातों का समर्थन नहीं करता है, हमारा उद्देश्य आप तक सिर्फ जानकारी पहुंचाना है. हम महिलाओं के प्रति किसी भी तरह के अविश्वास व असम्मान का भाव नहीं रखते हैं.

Leave a Reply