Home टेक Google पर फिर से दिखने लगे हैं आपके Whatsapp के प्राइवेट ग्रुप,...

Google पर फिर से दिखने लगे हैं आपके Whatsapp के प्राइवेट ग्रुप, नए पॉलिसी अपनाने की बजाए चुने सकते हैं ये रास्ता

0
9
whatsapp (1)

Whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी इस वक्त सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बनी हुई है लेकिन इसी बीच गूगल पर सर्च करने पर एक बार फिर से व्हाट्सएप के प्राइवेट ग्रुप आप आसानी से ढूंढ सकते हैं और उन्हें जॉइन भी कर सकते हैं। जोकि अपने आप में बेहद ही हैरान कर देने वाली बात निकलकर सामने आई है। इस तरह की परेशानी पहले 2019 में देखने को मिली थी। जब वो चीज सार्वजनिक हो गई तो इसे ठीक किया गया था। गूगल पर यदि आप सर्च करते हैं तो व्हाट्सएप यूजर की प्रोफाइल दिख रही है। ऐसे में इसके चलते लोगों के फोन नंबर और प्रोफाइल की तस्वीर भी साामान्य तौर पर गूगल पर सर्च करके सामने आ सकती है।

ग्रुप चैट इनवाइट की इंडेक्सिंग की अनुमित देकर, व्हाट्सएप अब इंटरनेट पर कई प्राइवेट ग्रुप को उपलब्ध करवा रहा है। ऐसा इसीलिए क्योंकि उनके लिंक गूगल पर साधारण सर्च का उपयोग करके एक्सेस किए जा सकते हैं। ऐसे में जिसे भी यह लिंक मिलते हैं वो न सिर्फ ग्रुप में शामिल हो सकता है बल्कि उनके नंबर और पोस्ट भी देख सकता है। जोकि अपने आप में बेहद ही परेशानी और दुविधा वाली बात है।

Whatsapp: नई पॉलिसी के तहत कौन सा डेटा होगा शेयर?

व्हाट्सएप की नई पॉलिसी की यदि बात की जाए तो व्हाट्सएप के पास आपका जितना भी डेटा है। अब वो फेसबुक की दूसरी कंपनियों के साथ भी शेयर किया जाएगा। इसके अंदर आपके आईपी एड्रेस, टाइम जोन, फोन मॉडल, बैटरी लेवलस ब्राउजर, भाषा टाइम जोन आदि जैसी कई चीजें शामिल होंगी। इसके अलावा आप किस तरह के मैसेज या फिर कॉल करते हैं, किसी ग्रुप के साथ जुड़े है, प्रोफाइल फोटो और लास्ट सीन तक भी शेयर किया जाने वाला है। कंपनी का इसको लेकर कहना है कि ये डेटा विश्लेषण संबंधी उद्देश्य के लिए किया जाएगा।

नहीं करना चाहते हैं Whatsapp का इस्तेमाल तो अपनाएं ये रास्ता

यदि आप अपना डाटा किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहते हैं तो आप उसे अनइंस्टॉल भी कर सकते हैं। लेकिन इसका बिल्कुल भी मतलब नहीं है कि आपका जितना भी डेटा स्टोर किया गया है वह तुरंत ही डिलीट हो जाएगा। वो ऐप पर लंबे समय तक बरकरार रखा सकता है। वहीं, व्हाट्सएप की जो नई प्राइवेसी की पॉलिसी है वो 8 हजार से भी ज्यादा लंबे शब्दों की है और इसमें ऐसे कई कानूनी शब्दों का इस्तेमाल किया गया है जिसे आम नागरिक आसानी से नहीं समझ सकता है। ऐसे में आप व्हाट्सएप के नियमों को नहीं स्वाीकार सकते हैं तो Signal messenger जैसे कई ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं।

NO COMMENTS

Leave a Reply